Thursday, March 20, 2014

THE COMMON MAN WHO HAS SET OUT TO CHANGE HIS COUNTRY ...

अरविन्द केजरीवाल एक आम आदमी से राष्ट्रीय महानायक बनने की ओर....


NATIONAL HERO OF INDIA

कल दिल्ली के चुनाव में आम जनता ने अपनी जनशक्ति का शानदार परिचय देकर संसद के इन ठेकेदारों को दिखा दिया कि संसद से बड़ी है जनसंसद। उन्हें बता दिया कि वे केवल जनता के नुमाइंदे हैं. केवल जनता के ही सेवक हैं. ये संसद में जाकर जनता कि मांगों की अवेलहना नहीं kar सकते. इस चुनाव के ऐतिहासिक नतीजों से भी अगर उन्होंने सीख नहीं ली तो तो आने वाले चुनावों में उन्हें फिर मुंह की खानी पड़ेगी। ये आम जनता का रोष ही है जो इन नतीजों में बाहर निकला है.

अगर आप सबको याद हो, कोंग्रेस और बीजेपी के बहुत से राजनीतिकों ने रामलीला मैदान में बैठी आम जनता की भावनाओं का संसद से, ताक़त के नशे में चूर, खुलकर जनता का बेशर्मी से अपमान किया था, उनके स्वाभिमान पर बेरहमी और निर्दयता के साथ दिन प्रतिदिन बार बार वार किया था. लोगों का उपहास किया था, मज़ाक उड़ाया था. याद करो वो समय, ये कैसे आम आदमी के जज़बों कि बखिया उधेड़ रहे थे संसद के पवित्र पटल से कि अरविन्द केजरीवाल के साथ कुछ एक हज़ार लोग ही हैं. कुछ दिन भूखे रहेंगे तो नानी याद आ जायेगी सबको। 

आज उसी जनता ने इन भारतीय राजनीतिकों के अहंकार के गाल पर एक कसके करारा थप्पड़ मारा है. एक ऐसा चांटा, जिसकी गूँज दस जनपथ और राजनीती के गलियारों में बरसों तक सुनाई देती रहेगी अब इन्हें . 

हैरानी की बात तो ये है देश वासियो, कल एक नेता ने तो न्यूज़ चैनल पर आम आदमी और बीजेपी कि तुलना करते हुए यहाँ तक कह दिया कि कहाँ राजा भोज और कहाँ गंगू तेली। देखो तो सही इन नेताओं के अहंकार क़ी सीमा! ये अब इतना सर चढ चुका है इनके मष्तिष्क पर कि इनकी आँखें नींद से अभी तक नहीं खुली। 

आने वाले चुनाव में अब तो हमें इस देश में आम आदमी का जनतंत्र स्थापित करके ऐसा तीव्र और भयंकर प्रहार करना होगा दोस्तों कि इन नेताओं के पैरो के नीचे से सदा के लिए ज़मीन हिल जाए. अब ऐसी पटखनी देनी होगी इन बेशर्मों को कि ये सत्ता से सदा के लिए वंचित हो जाएँ, सत्ता के धरातल से हमेशा के लिए बेदखल हो जाएँ, 

अगर याद हो आपको में अपनी कई पिछली पोस्ट्स में भविष्य वाणी कर चुका हूँ कि अरविन्द केजरीवाल एक साधारण व्यक्ति नहीं है. वो आने वाले समय में इस देश के राजनितिक मंच से एक शक्तिशाली राष्ट्रीय महानायक बनकर उभरेगा। 

दिल्ली का चुनाव तो इस असाधारण व्यक्ति का पहला कदम है जनक्रांति के पथ पर ......
Post a Comment